bina matra wale shabd , bina matra ke shabd ( बिना मात्रा वाले शब्द इन हिंदी)

bina matra wale shabd , bina matra ke shabd(बिना मात्रा वाले शब्द In Hindi):

हिंदी बिना मात्रा वाले शब्द(Hindi bina matra wale shabd)-जब भी कोई हिंदी शब्द या अक्षर बनाने की बात आती हैं तो उसके लिए मात्राओं एवं वर्णो की आवश्यकता होती हैं किसी भी प्रकार के शब्द अथवा वाक्य बनाने में वर्ण एवं मात्राओं की आवश्यकता होती हैं यूँ कहे तो इसके बिना संभव ही नहीं हैं,वाक्य के लिए विशेष रूप से मात्राओं की प्राथमिकता बहुत अत्यधिक हैं और वाक्यों का निर्माण शब्दों के द्वारा होता हैं लेकिन यदि बिना मात्रा वाले शब्द(bina matra wale shabd) को जानने की आवश्यकता पड़ जाए तो यह भी समझना जरूरी हैं क्योंकि छोटे वर्ग के बच्चों के लिए बहुत आवश्यक होता हैं जिसके सहायता से शब्दों को पढ़ना लिखना सीखते हैं और शब्दों को पहचान करते हैं इसके बाद बड़े-बड़े शब्दों को लिख पढ़ तथा कोइ वाक्य बना सकते हैं।

 

bina matra ke shabd

बिना मात्रा के शब्द – जिन शब्द में मात्रा नहीं लगा होता हैं वही बिना मात्रा वाले शब्द कहे जाते हैं । यदि आप बिना मात्रा वाले शब्दों की जानकारियां प्राप्त करना चाहते हैं तो यह articles  आपके लिए बहुत महत्पूर्ण होने वाली हैं क्योंकि इस आर्टिकल्स  में बिना मात्रा वाले शब्दों का संग्रह प्रस्तुत कर रहे हैं जो की छोटे वर्ग के बच्चें के लिए बहुत जरूरी होता हैं । हिंदी वर्णमालाओं के अध्ययन के बाद बच्चें के लिए अक्षरों को पहचाना ,वर्णो के सहायता से शब्द बनाना उसको पढ़ना लिखना तथा बोलना आदि बहुत आवश्यक होता हैं जिससे की किसी भी प्रकार के वाक्यों का निर्माण कर सके तथा उसे शुद्ध रूप से पढ़ लिख सके ।

बिना मात्रा के शब्द कैसे हो सकता हैंहम जानते हैं की हिंदी वर्णमाला में वर्ण दो प्रकार के होते हैं (i) स्वर वर्ण तथा (ii) व्यंजन वर्ण , जिसमें मात्रा स्वर वर्ण की होती हैं लेकिन व्यंजन वर्ण की मात्रा नहीं होती हैं क्योंकि व्यंजन वर्ण का उच्चारण स्वर वर्ण की सहायता से मात्राओं के रूप में किया जाता हैं स्वर वर्ण व्यंजन वर्ण के साथ सीधे न मिलकर मात्राओं से जुड़ते हैं । जैसे – किसान में   ि  और  ा की मात्रा लगा हैं जिसे मात्राओं से बने शब्द कहे जाते हैं इसके बाद अमीर , विद्यालय , कर्मभूमि , जिगर , किरण अविनाशी इत्यादि अनेकों हो सकते हैं और इसके विपरीत बिना मात्रा वाले शब्द होगा – कटहल , फल , जल , नल , घर , नहर , कहर , हक आदि होंगे इसमें मात्रा का प्रयोग नहीं करते हैं। जब हमें बिना मात्रा के शब्द बनाना पड़े तो किसी भी मात्रा का प्रयोग नहीं करना होता हैं इन सब बातों को समझने के लिए मात्राओं का अध्ययन बहुत जरूरी होता हैं।अतः इस पेज में विभिन्न प्रकार के बिना मात्रा वाले शब्द के बारे में जानकारी दे रहे हैं जो निम्नलिखित हैं।

 

इस पेज में  निम्नलिखित के बारे में जानकारिया दी गई हैं – 

  • (बिना मात्रा वाले शब्द )
  • (दो अक्षर के बिना मात्रा वाले शब्द)
  • (तीन अक्षर के बिना मात्रा वाले शब्द)
  • (पाँच अक्षर वाले बिना मात्रा के शब्द)
  •  (बिना मात्रा वाले अक्षर)

 

बिना  मात्रा  वाले  शब्द – जलज , मखन , लखन , महल, अचल, सनम, नरम, कनक ,कर, चर , जर,  पवन , सर , बल , कल , हल , पल , शर , शहर , ऊपर , छत , चढ़ , ललन , कब , जब , तल , टल , यह , छम , जम , बम , कल , जम , पहर , रबर , वजह , हमर , रह , तरप , गरम , हवस , कबर , जबर, उफ, तट , दस , डस , ठप , कर , कट , यम , तस , डस , तन , टन , खत , नट , ठप , थप , टब , झट , कद , कप , जहर , उन , घट , उस , कम , जन , कस , चट , डट , इन , यन , सज , मन, धन , हम , रस , नथ , वह , लव , थल , धन , खत , खट, रत , रट , कट , भर , तय , लय , नम , सम , मर , कण , लड़ , हर , गन, कद , फस , जम , नस , एक , घट , कप , पढ़ , सज , रग , इस , बज , आदि ये सब दो अक्षर के बिना मात्रा वाले शब्द  हैं।

 

bina matra wale shabd in hindi :

भजन , गजन , ननद , कलह , जलह , नयन , अगर , मगर , डगर , नमक , चमक , मटक , चटक , धमक , अटल , मटक , नकल , बटन , मटन , हतक , पवक , कलम , कलह , नजर , अजय , पकड़ , फलक , अगन , जलन , पहर , समर , कमर , सरक , जकड़ , तरल , सबक , रहम , फसल , दमन , बतख , नखत , मगन , कटक , वचन , कदर , गदर , मदर , चमन  , भटक , जनन , लवण  , अजब , गजब , नहर , भरम , जलम , जगत , भनक , परख , पकड़ , रपट ,  वतन , समय , शहद , भगत , महल , धरम , अमन , रनम , बहन , पहन , रमन ,कमर , कारण , कहर , कटर , कतर , कसम , कवर , कपल , कबर , खतप , खटक , खजक , गलन , गगर , खलल , गलन , गबर , गगर , गटक , गजन , गलभ , मदन , पहन , पहन आदि ये सारे तीन अक्षर के बिना मात्रा वाले शब्द हैं।

 

5 akshar wale bina matra ke shabd :

हमसरफ , सहगमन , गजबदन , नभगगन , धरपकड़ , हरभजन , उपनगर , दलबदल , उपकरण , उपनयन , अपरदन , एकवचन , अपहरण ,अपचयन , जयनगर , अवतरण , अवकलन , मनमहल , दहनकक्ष , वनरक्षक , नवनयन , अवनमन , कनकजल , अमरपद , अनवरत , जयनगर , लड़कपन , दमकलन , अकलमन , अमननगर आदि ।

 

Bina matra wale akshar 

अनबन , अजकण , रजकण , अकबर , अचकन , अनपढ़ , अदरक , बचपन , शबनम , कसरत , गरदन, उपवन , पनवन , पनघट , दमकल , अहमद , टमटम , सरगम , अदरक , खतरन, कतरन , हरकत , करवट , झटपट , हलधर , भगवन , नटखट , नभचर ,अफसर , मलमल , मतलब , अफसर , कटहल , दहसत , गपसप , मखमल , उलझन , अवसर , सरपट , समतल , डगमग , जगमग , हरदम , हलचल , पतझर , दरसल  , खटमल , गरबर , अमरस , शबनम , बरबस , दमकल , थरमस , शबनम , शलगम , कसरत , गणपत , करवट , नभकल , जलचर , हटकन , हलचल , भलचल , टनटन , झनझन , रजकण , नभकन , जलकण , भवनम , जलमन , तनमन , पलवन , हलकन , अमजल , रमझम , दमदम , डमडम , हलकल , कभकन , दमदम , सहमत , मरहम ,  जलचर , मतलब , सरपट आदि ये सब चार अक्षर के बिना मात्रा वाले शब्द हैं 

 

(ध्यान देंऐसा कोइ भी शब्द या वाक्य जिसमें मात्रा का उपयोग नहीं किया गया हो तो वह बिना मात्रा के शब्द होंगें , एक बात बता देना चाहते हैं शायद अभी आपके लिए जरूरी  हो सकते हैं वह हैं- ‘हिंदी मात्रा’ जैसे आप को बता चुके हैं कि मात्रा स्वर वर्ण का होता हैं अतः अभी उन स्वर वर्ण के बारे में भी जान लेते हैं । वर्ण कि संख्या 11 हैं जो इस प्रकार हैं  अ , आ , इ , ई  , उ , ऊ , ए , ऐ , ओ , औ , ऋ हैं जिनकी मात्रा क्रमशः – अ का नहीं होता है इसके बाद   ा  ,   ि  ,   ी   ,   ु   ,     ू   ,   े   ,     ै   ,   ो   ,   ौ   और   ृ  हैं ।)

 

निष्कर्ष – आप  समझ गए होंगें कि bina matra wale shabd किस प्रकार होता हैं । आप सबसे पहले हिंदी वर्णमाला तथा उनके मात्राओं के बारे में अध्ययन कर लीजिए जिससे कि आपको बिना मात्रा वाले शब्द बनाना समझना और पढ़ना बहुत आसान हो जायेगा , कुल मिलकर बात यह हैं कि जिस शब्द में मात्रा नहीं लगा होता हैं वह शब्द बिना मात्रा के होते हैं । हम आशा करते हैं कि इस पेज के माध्यम से दी गई जानकारिया आपके लिए महत्पूर्ण होगी ।

इन्हें भी पढ़े-1. हिंदी मात्रा क्या होता हैं ?

2. हिंदी वर्णमाला क्या हैं ?

3. aa की मात्रा वाले शब्द ।

4 . छोटी  इ तथा बड़ी ई की मात्रा लगाने के नियम एवं इनसे बने शब्द ।

 

Leave a Comment